• DAP Urea Khad Issue: हरियाणा में किसानों के लिए खुशखबरी, अब खाद के लिए लाइनों में नहीं करना इंतजार, बनाया ये स्पेशल प्लान 
     

    Written ByDeepika Pandey

    Published onFri, 25 Nov 2022

    DAP Urea Khad Issue: हरियाणा में किसानों के लिए खुशखबरी, अब खाद के लिए लाइनों में नहीं करना इंतजार, बनाया ये स्पेशल प्लान 

     हरियाणा सरकार ने राज्‍य में खाद के लिए मारामारी और इनकी कालाबाजारी समाप्‍त करने के लिए बढ़ा कदम उठाया है। इससे अब किसानों को खादों के लिए लाइनें नहीं लगानी नहीं पड़ेगी। अब किसानों को बुलाकर खाद दी जाएगी। 
    किसानों के हिस्‍से की खाद व्‍यापारी ब्‍लैक में खरीद  लेते हैं    


    दरअसल, हरियाणा के किसानों के हिस्से का खाद व्यापारी ब्लैक में खरीद रहे हैं और बाद में मनमानी रेट पर बेचते हैं। इसके साथ ही प्रदेश के पड़ोसी राज्यों में भी हरियाणा के खाद की अवैध सप्लाई हो रही है।

    प्रदेश सरकार ने इसे गंभीरता से लेते हुए भविष्य में खाद की बिक्री के लिए ठीक उसी तरह का सिस्टम तैयार करने का निर्णय लिया है, जिस तरह का सिस्टम मंडी में किसान द्वारा फसल की बिक्री के दौरान अपनाया जाता है। यानी किसान को उसके फोन पर संदेश आएगा। तभी वह संबंधित पैक्स में खाद की खरीद के लिए जा सकेगा। बाकी दिनों में किसान को खाद के लिए कहीं लाइन में लगने की जरूरत नहीं होगी।
    हरियाणा में खिलाड़ियों को तीन फीसदी आरक्षण। सांकेतिक फोटो


    हरियाणा में तृतीय श्रेणी नौकरियों में अब खिलाड़ियों के लिए अलग से तीन प्रतिशत कोटाकृषि मंत्री जल्‍द नई स‍िस्‍टम के बारे में सीएम से करेंगे चर्चा
    हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल इस नए सिस्टम के बारे में जल्दी ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात करेंगे। प्रदेश में पिछले साल अगस्त से नवंबर तक तीन लाख दो हजार टन खाद की खपत हुई थी। इस साल अब तक तीन लाख दस हजार टन खाद बेची जा चुकी है। राज्य सरकार के पास 27 लाख टन खाद का स्टाक उपलब्ध है। आठ कंटेनर खाद इसी माह आने हैं, जिनमें 20 हजार टन खाद पहुंचेगा। प्रदेश सरकार के पास यूरिया का ढ़ाई लाख टन का भंडार है।
    हरियाणा में आम लोग भी ले सकते हैं वीआइपी नंबर। सांकेतिक फोटो


    हरियाणा में अब आप भी ले सकते हैं अपने वाहनों के लिए वीआइपी नंबर, सरकारी गाड़ियों के लिए अलग सीरीज जारी
    कृषि मंत्री दलाल ने दावा किया कि प्रदेश में खाद की कमी नहीं है, लेकिन विपक्षी दलों के नेता जानबूझकर सुर्खियों में बने रहने तथा भोले किसानों को लाइन में खड़े रखने के लिए षड्यंत्र रच रहे हैं।

    दूसरी तरफ, केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डा. मनसुख मंडाविया ने राज्यों के कृषि मंत्रियों के साथ उर्वरक की उपलब्धता की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि उर्वरकों का पर्याप्त उत्पादन हो रहा है और उनकी कोई कमी नहीं है, परंतु कृषि क्षेत्र के लिए पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने को विनियर और प्लाईवुड जैसे उद्योगों में यूरिया के इस्तेमाल को सख्ती से रोकना होगा।
    हरियाणा में नई कपड़ा नीति तैयार। सांकेतिक फोटो


    हरियाणा की नई कपड़ा नीति तैयार, टेक्सटाइल पार्क बनेंगे, गारमेंट्स इंडस्ट्री को मिलेगी मजबूती
    यह भी पढ़ें
    खाद की अवैध सप्‍लाई रोकने को पड़ोसी राज्‍यों की सीमाओं की होगी नाकेबंदी
    जेपी दलाल के अनुसार, खाद की कालाबाजारी रोकने व पड़ोसी राज्यों में खाद की अवैध सप्लाई रोकने के लिए पड़ोसी राज्यों की सीमाओं पर नाकेबंदी का आदेश दिया जा चुका है।

    साथ ही ब्लैक में खाद बेचने वाले व्यापारियों पर कार्रवाई को लेकर अधिकारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। विभागीय अधिकारी लगातार गोदामों और दुकानों को चेक करेंगे।


    हरियाणा के सीएम मनोहर लाल की फाइल फोटो।
    हरियाणा से पंजाब, राजस्थान और यूपी में खाद भेजने की सूचनाएं हैं। कृषि विभाग मुख्यालय लगातार जिलों पर नजर रख रहा है। दलाल ने उर्वरक कंपनियों के अधिकारियों को भी निर्देश दिए हैं कि किसानों को समय पर खाद उपलब्ध करवाएं। जेपी दलाल ने कहा कि खाद की कालाबाजारी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके लिए तमाम डीसी और एसपी को भी निर्देश जारी किए हैं।

Latest Topics