• Haryana News: हरियाणा में स्कूल खुलने और बंद होने के समय में बदलाव, जानें क्यों लिया गया ये फैसला
     

    Written ByDeepika Pandey

    Published onThu, 24 Nov 2022

    Haryana News: हरियाणा में स्कूल खुलने और बंद होने के समय में बदलाव, जानें क्यों लिया गया ये फैसला

    एकल शिफ्ट के स्कूलों का समय सुबह साढ़े नौ बजे से दोपहर साढ़े तीन बजे तक होगा। डबल शिफ्ट में पहली शिफ्ट का समय सुबह 7.55 से दोपहर 12.30 बजे तक कक्षाएं लगेंगी, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 12.40 से सांय 5.15 बजे तक चलेगी।
    हरियाणा में खुलेंगे 238 पीमश्री स्कूल, हर ब्लाक को मिलेंगे दो-दो


    हरियाणा के सभी शिक्षा खंडों में 238 पीएमश्री स्कूल (प्रधानमंत्री स्कूल्स फार राइजिंग इंडिया) खोले जाएंगे। अपग्रेड किए जाएंगे। केंद्र सरकार के सहयोग से प्रत्येक खंड में ऐसे दो-दो स्कूल खोलने का निर्णय लिया गया है।
    हरियाणा सरकार द्वारा प्रत्येक स्कूल के नवीनीकरण पर एक करोड़ रुपए तक की राशि खर्च की जाएगी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 'पीएमश्री स्कूल' योजना को मंजूरी दी थी।


    पीएमश्री स्कूल अपने आसपास के अन्य स्कूलों को मार्गदर्शन और नेतृत्व प्रदान करेंगे। वर्ष 2022-23 से 2026 तक पांच वर्षों की अवधि के लिए 27 हजार 360 करोड़ रुपये की लागत से पीएमश्री प्रोजेक्ट को लागू किया जाएगा।देश भर के 14 हजार 500 स्कूलों को पीएमश्री योजना के तहत अपग्रेड करने की केंद्र सरकार की योजना है। पीएम मोदी ने शिक्षक दिवस के मौके पर इसकी घोषणा की थी।


    हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने चंडीगढ़ में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक में पीमश्री स्कूलों को खोलने अथवा अपग्रेड करने की पूरी योजना पर चर्चा की। शिक्षा मंत्री ने कहा कि इन स्कूलों में हमारी सरकार उत्कृष्ट अध्यापक उपलब्ध करवाएगी।
    ऐसे स्कूलों में अच्छी शिक्षा, सांस्कृतिक एवं शारीरिक गतिविधियों का उच्च स्तरीय उदाहरण देखने को मिलेगा।


    केंद्र सरकार ने इन स्कूलों के चयन के लिए एक पैमाना निर्धारित किया है, ताकि बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान की जा सके। इसके आधार पर स्कूलों के चयन का कार्य शुरू कर दिया गया है। इनके लिए जिला स्तर पर कमेटी का गठन किया जाएगा, जिसकी समीक्षा राज्य स्तर पर गठित कमेटी करेगी।
    कंवरपाल ने बैठक के बाद बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश में 138 संस्कृति माडल स्कूल स्थापित किए जा रहे हैं। इन स्कूलों में अधिकतर अध्यापकों की नियुक्ति कर दी गई है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में कार्यरत अधिकतर गेस्ट टीचर्स को उनके गृह जिलों में तैनात कर दिया गया है तथा शेष प्रक्रियाधीन है।
    इसके साथ ही विद्यालयों में पहली से आठवीं कक्षा तक विद्यार्थियों को पुस्तकें शीघ्र उपलब्ध करवाई जाएंगी।


    95 करोड़ की लागत से खरीदे जाएंगे 1.41 लाख ड्यूल डेस्क
    शिक्षा मंत्री के अनुसार, हरियाणा के सभी 22 जिलों के 26 खंडों के प्राथमिक, माध्यमिक एवं वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में विद्यार्थियों के बैठने के लिए ड्यूल डेस्क खरीदे जा रहे हैं। इन पर करीब 95 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी तथा इसके प्रथम चरण में 31 जनवरी 2023 तक यह डेस्क संबंधित स्कूलों में पहुंचा दिए जाएंगे। 


    सभी खंडों के स्कूलों में करीब 1.41 लाख ड्यूल डेस्क खरीदे जाएंगे। इसके लिए आर्डर जारी कर दिया गया है। इस वर्ष 31 दिसंबर तक 23 खंडों के विद्यालयों में ड्यूल डेस्क उपलब्ध करवाने हेतु आर्डर जारी करने का काम पूरा होगा, शेष 60 खंडों के स्कूलों में इन्हें वर्ष 2023 तक उपलब्ध करवा दिए जाएंगे।
    कंवरपाल गुर्जर के अनुसार 26 खंडों के विद्यालयों में 65 हजार 501 डेस्क पांचवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों हेतु, 36 हजार 168 डेस्क छठी से आठवीं तक तथा 39 हजार 208 डेस्क नौवीं से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध करवाएं जाएंगे।


    ड्यूल डेस्कों व उनकी मरम्मत हेतु सेकेंडरी विभाग के लिए करीब 17 करोड़ रुपये तथा मौलिक विभाग के लिए करीब 57 करोड़ रूपए की आवश्यकता रहेगी। 
    सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे जिन विद्यार्थियों को टेबलेट दिए गए हैं, उनको 30 नवंबर तक टेबलेट सिम उपलब्ध करवा दिए जाएंगे। राज्य के दसवीं से बाहरवीं कक्षा के लिए 5.28 लाख विद्यार्थियों को टेबलेट उपलब्ध करवाएं जा चुके हैं।

Latest Topics