• Mainpuri By-Election: अखिलेश यादव को डरा रहे हैं सपा के ये रिकॉर्ड, डिंपल यादव के सामने बड़ी चुनौती

    Written ByDeepika Pandey

    Published onTue, 22 Nov 2022

    Mainpuri By-Election: अखिलेश यादव को डरा रहे हैं सपा के ये रिकॉर्ड, डिंपल यादव के सामने बड़ी चुनौती

    Samajwadi Party Record in By-Election: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मैनपुरी लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव (Mainpuri Lok Sabha Bypolls) पर जीत और मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की राजनीतिक विरासत को बचाने के लिए पूरा जोर लगा दिया है. अखिलेश यादव ने उपचुनाव में मैनपुरी सीट से अपनी पत्नी डिंपल यादव (Dimple Yadav) को उतारा है और इसके साथ ही चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) से भी गिले शिकवे भुलाकर एकता का नारा बुलंद कर रहे हैं.

    पूरा यादव परिवार एकजुट, फिर भी सता रहा डर

    मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव (Mainpuri Lok Sabha Bypolls) के लिए पूरा यादव परिवार (Yadav Family) साथ आ गया है, लेकिन इसके बावजूद उपचुनावों सपा की हार का रिकॉर्ड चिंता का सबब है. इससे पहले समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) को कुछ महीने पहले हुए आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा उपचुनाव में हार का सामना करना पड़ा था. 

    अखिलेश के चचेरे भाई को मिली थी हार

    आजमगढ़ लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव (Azamgarh Lok Sabha Bypoll) में यादव परिवार को बड़ा झटका लगा था और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव (Dharmdendra Yadav) चुनाव हार गए थे. इस सीट से बीजेपी के दिनेश लाल यादव निरहुआ ने जीत हासिल की थी. बता दें कि आजमगढ़ सीट को अखिलेश यादव ने यूपी विधानसभा चुनाव में जीत के बाद खाली किया था, 

    सपा के गढ़ रामपुर में भी इस साल मिली हार

    समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) को कुछ महीने पहले रामपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव (Rampur Lok Sabha Bypolls) में भी हार का सामना करना पड़ा था और तब सपा के आसिम रजा को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के घनश्याम लोधी ने हराया था.

    डिंपल यादव भी हार चुकी हैं लोकसभा उपचुनाव

    मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव (Mainpuri Lok Sabha Bypolls) के लिए समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार डिंपल यादव (Dimple Yadav) का रिकॉर्ड भी लोकसभा उपचुनाव में ठीक नहीं रहा है और वह भी एक बार हार चुकी हैं. डिंपल को साल 2009 में फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में हार का सामना करना पड़ा था. 

    डिंपल यादव का सियासी सफर

    डिंपल यादव (Dimple Yadav) इससे पहले कन्नौज लोकसभा सीट (Kannauj Lok Sabha Seat) से 2 बार सांसद रह चुकी हैं. साल 2009 में फिरोजाबाद से हार के बाद डिंपल को साल 2012 में हुए उपचुनाव में पहली बार कन्नौज सीट से जीत मिली थी. इसके बाद 2014 के आम चुनावों में भी वह दोबारा इस सीट से सांसद चुनी गई थीं, लेकिन 2019 के चुनाव में उनको हार का सामना करना पड़ा. 

Latest Topics