• राजस्थान: कांग्रेस नेता की अगवा की गई 21 साल की बेटी का 40 घंटे बाद भी नहीं लगा कोई सुराग
     

    Written ByDeepika Pandey

    Published onWed, 23 Nov 2022

    राजस्थान: कांग्रेस नेता की अगवा की गई 21 साल की बेटी का 40 घंटे बाद भी नहीं लगा कोई सुराग

    kidnapping case: राजस्थान घुमंतू जाति बोर्ड के पूर्व में अध्यक्ष रहे कांग्रेस नेता गोपाल केसावत (Gopal Kesawat) की 21 वर्षीय बेटी अभिलाषा केसावत को अगवा (Abhilasha Kesawat kidnapped) किए हुए करीब 40 घंटे का समय बीत चुका है लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. इस अवधि में पुलिस ने घटनास्थल और आसपास लगे करीब 400 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाल लिए हैं लेकिन उनमें अभिलाषा कहीं नजर नहीं आई है. इस मामले की जांच के लिए प्रतापनगर थाना पुलिस समेत सीएसटी और डीएसटी की टीमें भी लगी हुई हैं. लेकिन अभी तक अभिलाषा का कोई सुराग नहीं लग पाया है.


    राजधानी जयपुर में दिनदहाड़े हुई अपहरण की इस वारदात के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस ने इस मामले में जांच को आगे बढ़ाते हुए गोपाल केसावत की ओर से दिए गए कुछ संदिग्ध लोगों की जानकारी के बाद उनको थाने बुलाकर पूछताछ की गई है.

    लेकिन उनसे भी पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया है. पुलिस का दावा है कि अपरहण के बाद शाम को अभिलाषा के मोबाइल की लोकेशन ट्रैस कर ली गई थी लेकिन उसके बाद का पता नहीं लग पाया है. जहां उसके मोबाइल की लोकेशन ट्रैस हुई वहां पुलिस पहुंची थी लेकिन अभिलाषा का कोई पता नहीं चला.केसावत के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है


    वहीं बेटी के अपहरण को 40 घंटे से ज्यादा का समय बीत जाने के बाद भी उसका सुराग नहीं लगने से केसावत के परिवार का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है.

    केसावत ने आशंका जाहिर की कि नशे के खिलाफ उनके राजनीतिक अभियान से भी कुछ लोग नाराज हो सकते हैं. बेटी के अपहरण के पीछे एक यह कारण भी हो सकता है. केसावत पूर्ववर्ती गहलोत सरकार में राजस्थान घुमंतू जाति बोर्ड के चेयरमैन रहे थे. उस समय उनको राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त था. केसावत इस मामले को लेकर पुलिस कमिश्नर और अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर से भी मुलाकात कर चुके हैं.


    सोमवार शाम को हुआ था अभिलाषा का अपरहण
    उल्लेखनीय है कि अभिलाषा सोमवार शाम को करीब साढ़े पांच बजे स्कूटी से सब्जी लेने के लिए निकली थी. उसके बाद वह घर नहीं लौटी. गोपाल केसावत का कहना है

    कि उसके बाद उनके पास बेटी का फोन आया था. फोन पर उसने कहा था कि पापा कुछ लड़के उसके पीछे पड़ गए हैं. आप गाड़ी लेकर आओ. इस पर वे परिजनों के साथ मौके पर पहुंचे थे लेकिन वह वहां नहीं मिली. मंगलवार को सुबह अभिलाषा की स्कूटी एयरपोर्ट रोड पर झाड़ियों में पड़ी मिली थी.


     

Latest Topics