• रिपोर्ट: जनवरी-सितंबर के दौरान इतने प्रतिशत महंगे हुए घर, जानें 8 प्रमुख शहरों के रेट
     

    Written ByDeepika Pandey

    Published onTue, 22 Nov 2022

    रिपोर्ट: जनवरी-सितंबर के दौरान इतने प्रतिशत महंगे हुए घर, जानें 8 प्रमुख शहरों के रेट

    नई दिल्ली: देश के आठ प्रमुख शहरों में इस वर्ष जनवरी-सितंबर के दौरान आवास कीमतों में करीब पांच प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई. लागत में बढ़ोतरी और मांग में मजबूती के चलते ये इजाफा हुआ है. संपत्ति ब्रोकरेज कंपनी प्रॉपटाइगर डॉट कॉम की एक रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है. 
    6,300-6,500 रुपये प्रति वर्ग फुट हुई कीमत


    कंपनी ने बयान में कहा कि इस साल सितंबर तिमाही के अंत में आठ शहरों के प्राथमिक बाजारों में आवासीय संपत्तियों की भारित औसत कीमत 6,600-6,800 रुपये प्रति वर्ग फुट थी, जबकि 2021 की दिसंबर तिमाही के अंत में यह 6,300-6,500 रुपये प्रति वर्ग फुट थी. 
    किस शहर में क्या है कीमत


    -अहमदाबाद में आवास कीमतें जुलाई-सितंबर की अवधि में पांच प्रतिशत बढ़कर 3,600-3,800 रुपये प्रति वर्ग फुट हो गईं. यह 2021 कैलेंडर वर्ष के अंत में 3,400-3,600 रुपये प्रति वर्ग फुट थी. 
    -बेंगलुरु में आवासीय संपत्तियों का दाम 5,500-5,700 रुपये प्रति वर्ग फुट से छह प्रतिशत बढ़कर 5,900-6,100 रुपये हो गईं. 
    -चेन्नई में यह दो प्रतिशत की मामूली वृद्धि के साथ 5,500-5,700 रुपये हो गई
    -दिल्ली-एनसीआर में कीमतों में पांच प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह 4,700-4,900 रुपये हो गई. 


    -जुलाई-सितंबर के दौरान हैदराबाद में आवास कीमतें चार प्रतिशत बढ़कर 6,100-6,300 प्रति वर्ग फुट 
    -कोलकाता में तीन प्रतिशत बढ़कर 4,400-4,600 प्रति वर्ग फुट हो गई. 
    -महाराष्ट्र के शीर्ष दो बाजारों... मुंबई और पुणे में जुलाई-सितंबर, 2022 के दौरान कीमतें दिसंबर, 2021 की तुलना में क्रमश: तीन और सात प्रतिशत बढ़ी हैं और यह 9,900-10,100 रुपये तथा 5,500-5,700 रुपये प्रति वर्ग फुट पर पहुंच गईं.


    क्या बोले CFO विकास वधावन
    प्रॉपटाइगर डॉट कॉम, हाउसिंग डॉट कॉम और मकान डॉट कॉम के समूह मुख्य वित्त अधिकारी (CFO) विकास वधावन ने कहा, ‘‘प्राथमिक आवास बाजार में कीमतों में मामूली वृद्धि हुई है. यह वृद्धि सीमेंट और इस्पात जैसे प्रमुख कच्चे माल के दाम बढ़ने की वजह से हुई है.  मई 2022 के बाद से आवास ऋण पर ब्याज दरों में लगभग 2 प्रतिशत की बढ़ोतरी के बावजूद मजबूत मांग से आने वाली तिमाही में घर-फ्लैट की कीमतों में और वृद्धि की संभावना है. प्रमुख निर्माण सामग्री की कीमतें कम हुई हैं लेकिन पिछले वर्ष की तुलना में यह अब भी अधिक है.'' 


     

Latest Topics