Skynews100-hindi-logo

YouTube चैनल वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब 500 सब्सक्राइबर्स होते ही शुरू होगी कमाई

यदि आप भी एक YouTube कंटेंट क्रिएटर्स हैं और कमाई को लेकर चिंतित रहते हैं तो अब आपके लिए खुशखबरी है।
 
YouTube चैनल वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब 500 सब्सक्राइबर्स होते ही शुरू होगी कमाई 

Ajay Sehrawat: यदि आप भी एक YouTube कंटेंट क्रिएटर्स हैं और कमाई को लेकर चिंतित रहते हैं तो अब आपके लिए खुशखबरी है। अब आपको अपने YouTube को चैनल के मोनेटाइजेशन को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं हैं, क्योंकि अब आपका YouTube चैनल 500 चैनल सब्सक्राइबर्स होने पर भी मोनेटाइज हो सकता है।

कंपनी ने एक बड़ी पहल करते हुए इस संबंध में नियमों में बड़ा बदलाव किया है। बता दें कि पहले चैनल मोनेटाइजेशन कराने के लिए कम से कम 1000 सब्सक्राइबर्स की जरूरत होती थी लेकिन अब YouTube ने कहा है कि वह यूट्यूब पार्टनर प्रोग्राम के लिए पात्रता आवश्यकताओं को कम कर रही है और कम फॉलोअर्स वाले क्रिएटर्स के लिए मोनेटाइजेशन प्रोसेस को आसान किया जा रहा है।

कंपनी मोनेटाइजेशन प्रोसेस की लिमिट को कम कर रही है। यानी अब कम फॉलोअर्स वाले क्रिएटर्स भी अपना यूट्यूब चैनल मोनेटाइज करा सकेंगे और कमाई शुरू कर सकते हैं। 

YouTube ने इन नियमों में किया बदलाव

• अब नए नियम के तहत, क्रिएटर्स को पात्र होने के लिए केवल 500 सब्सक्राइबर्स की आवश्यकता होगी, जबकि पहले 1000 की होती थी।

• YouTube ने 4000 वॉच आवर को भी कम करके 3000 वॉच आवर कर दिया है। यानी अब एक साल में 3000 वॉच आवर को ही पूरा करना होगा।

• इसके साथ ही Youtube Shorts व्यू को 10 मिलियन से घटाकर 3 मिलियन कर दिया गया है। यानी क्रिएटर्स को चैनल मोनेटाइज कराने के लिए 90 दिनों में 30 लाख Youtube Shorts व्यू होने चाहिए।

छोटे क्रिएटर्स को होगा फायदा

YouTube की नई मोनेटाइजेशन प्रोसेस से छोटे और शुरुआती यूट्यूबर्स को काफी फायदा पहुंचेगा। उनके पास अब YouTube पर अपने कंटेंट को मोनेटाइजेशन करने के अधिक अवसर होंगे। हालांकि, उन्हें अपने दर्शकों को बढ़ाने और विज्ञापन राजस्व अर्जित करने के लिए कुछ बेंचमार्क पूरा करने की आवश्यकता होगी। रेवेन्यू शेयरिंग को नहीं बदला गया है। वहीं जो क्रिएटर्स YouTube पार्टनर प्रोग्राम में पहले से शामिल हैं, उन्हें फिर से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी। 

प्रोग्राम में शामिल होने के बाद क्रिएटर्स को सुपर थैंक्स, सुपर चैट और सुपर स्टिकर्स जैसे कई उपयोगी टूल का एक्सेस मिल जाएगा। वे चैनल मेंबरशिप जैसे सब्सक्रिप्शन टूल का भी इस्तेमाल कर सकेंगे और YouTube शॉपिंग में अपने प्रोडक्ट को भी प्रमोट कर सकेंगे।