Skynews100-hindi-logo

Galleri Test:वैज्ञानिकों का दावा; ब्लड टेस्ट से कैंसर का पता चलेगा!

Galleri Test:ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा ने दावा किया है कि अकेले रक्त परीक्षण से कैंसर का शुरुआती चरण में पता चल जाएगा।
 
 
Galleri Test

Galleri Test: कैंसर एक ऐसी बीमारी है, जिसके नाम से ही रूह कांप जाती है। इस बीमारी के साथ सबसे बड़ी दुविधा यह है कि इसका पता देर से चलता है, जब तक कैंसर कोशिकाएं पूरे शरीर में फैल चुकी होती हैं। दुनिया में करोड़ों लोग कैंसर से पीड़ित हैं। साथ ही आधुनिक जीवनशैली के साथ इस बीमारी के मामले भी उसी अनुपात में बढ़ रहे हैं।


वैज्ञानिक और डॉक्टर निदान और उपचार के नए तरीकों पर काम कर रहे हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और नेशनल हेल्थ सर्विस ने रिसर्च के बाद दावा किया है कि ब्लड टेस्ट से शुरुआती स्टेज में ही कैंसर का पता चल जाएगा। वैज्ञानिकों ने यह दावा 6,000 से ज्यादा लोगों के खून की जांच के बाद किया है। इस टेस्ट को 'गैलरी' नाम दिया गया है। गैलरी टेस्ट पचास से अधिक प्रकार के कैंसर का पता लगा सकता है।
कैंसर का निदान अब होगा आसान, बस एक ब्लड टेस्ट से 50 तरह के Cancer की होगी  पहचान - Simple Blood test for 50 types of cancer speed up diagnosis study  show

दवाओं से कैंसर ठीक हो सकता है
शोध में शामिल वैज्ञानिकों का दावा है कि कैंसर का पता लगाने में खून की जांच की सटीकता 75 फीसदी है। 6,000 से अधिक लोगों के रक्त के नमूनों की प्रारंभिक जांच में 323 लोगों में कैंसर की संभावना दिखाई दी थी। जब 323 लोगों का गहन परीक्षण किया गया, तो 244 को कैंसर होने की पुष्टि हुई। दुनिया भर के कैंसर अनुसंधान में शामिल वैज्ञानिक और डॉक्टर इस खोज में आशाजनक संभावनाएं तलाश रहे हैं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि अगर कैंसर का शुरुआती चरण में ही पता चल जाए तो अकेले दवाओं के जरिए इसके ठीक होने की संभावना बढ़ जाएगी।
 

 
गैलरी टेस्ट: एक क्रांतिकारी खोज
राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा में कैंसर विभाग के निदेशक प्रोफेसर पीटर जॉनसन ने एक बयान में कहा कि निष्कर्षों ने कैंसर के इलाज के क्षेत्र में आशा जगाई है। अभी, यह शोध अपनी प्रारंभिक अवस्था में है। और भी प्रयोग किए जाएंगे। हालांकि अभी तक इसके नतीजे अच्छे रहे हैं। उम्मीद है कि भविष्य में पूरी दुनिया में गैलरी के परीक्षण संभव होंगे। यदि रक्त के माध्यम से कैंसर का पता लगाने की सटीकता 100 प्रतिशत हासिल कर ली जाए तो यह एक क्रांतिकारी खोज होगी। दुनिया भर में कैंसर से पीड़ित लाखों लोगों को बचाया जा सकता है।
 

इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर के आंकड़ों के मुताबिक, दुनिया में हर पांच में से एक पुरुष और छह में से एक महिला में कैंसर के लक्षण होते हैं। कैंसर 10 में लगभग एक व्यक्ति की जान लेता है।

भारत में कैंसर भी एक बड़ी समस्या है। इंडियन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, देश में हर साल लगभग 50,000 बच्चों में कैंसर का निदान किया जाता है। दुनिया भर में, संख्या 300,0 से अधिक हैवैज्ञानिकों का दावा; खून की एक जांच से पता चल जाएगा कैंसर

गैलरी टेस्ट क्या है?  
गैलरी एक मल्टी-कैंसर अर्ली डिटेक्शन (MCED) टेस्ट है, जो एक साधारण ब्लड ड्रा के माध्यम से 50 से अधिक प्रकार के कैंसर में साझा संकेतों की तलाश करता है। इनमें से कई कैंसर की आज आमतौर पर जांच नहीं की जाती है और अन्यथा लक्षणों के प्रकट होने से पहले उन पर ध्यान नहीं दिया जा सकता है।

गैलरी टेस्ट कौन करवा सकता है?  
कैंसर के उच्च जोखिम वाले वयस्कों के लिए गैलरी परीक्षण की सिफारिश की जाती है, जैसे कि 50 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोग।
केवल आपका स्वास्थ्य सेवा प्रदाता ही यह निर्धारित कर सकता है कि गैलरी आपके लिए सही है या नहीं।
गैलरी उन व्यक्तियों में उपयोग के लिए अनुशंसित नहीं है जो गर्भवती हैं, 21 वर्ष या उससे कम उम्र के हैं, या सक्रिय कैंसर उपचार से गुजर रहे हैं।