Skynews100-hindi-logo

यह लड़की महज 17 साल की उम्र में बनी कथावाचक, सुनने जुटती है हजारों की भीड़, जानें कौन है ये कथावाचिका

मध्यप्रदेश के सतना शहर की रहने वाली पलक किशोरी इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियों में बनी हुई है। बता दें पलक किशोरी महज 17 वर्ष की उम्र में जया किशोरी की तरह कथावाचक बन गई हैं।
 
यह लड़की महज 17 साल की उम्र में बनी कथावाचक

Palak Kishori : मध्यप्रदेश के सतना शहर की रहने वाली पलक किशोरी इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियों में बनी हुई है। बता दें पलक किशोरी महज 17 वर्ष की उम्र में जया किशोरी की तरह कथावाचक बन गई हैं।

बता दें पलक किशोरी कक्षा 12वीं में पढ़ती हैं। उन्होंने बिना किसी भागवत की पढ़ाई के कथावाचन शुरू किया। अब उनकी कथा को सुनने हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। पलक किशोरी खुद को कृष्ण भगवान की भक्त मानती हैं।

जया किशोरी से हुई प्रेरित

खुद को पलक किशोरी भगवान कृष्ण की भक्त कहती हैं और वह जया किशोरी को अपना इंस्पीरेशन मानती हैं। एक इंटरव्यू में पलक किशोरी ने कहा कि वह जया किशोरी को अपना आदर्श मानती हैं।

पलक किशोरी ने बताया कि वह जया किशोरी के सारे वीडियो देखती हैं और उनसे सीखती हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनके कथा कहने का तरीका जया किशोरी से मिलता है।

2021 में पहली बार नवरात्रि पर किया था कथावचन

पलक किशोरी ने साल 2021 में पहली बार नवरात्रि पर कथावचन किया था। उन्होंने दो घंटे कृष्ण प्रवचन किया, जो लोगों को खूब पसंद आया. उन्होंने बताया कि उन्होंने इसके कोई पढ़ाई नहीं की है बल्कि खुद लॉकडाउन में घर पर भागवत कथा का अध्ययन किया।