Skynews100-hindi-logo

Women Teacher Case: दिन में क्लास, रात को बैडरुम, महिला टीचर का कारनामा देख हैरान हुआ DM

 
Women Teacher Case: दिन में क्लास, रात को बैडरुम, महिला टीचर का कारनामा देख हैरान हुआ DM
बिहार के इस स्कूल में टीवी, फ्रिज, गोदरेज से लेकर किचन का हर वो सामान मौजूद है जो पिकनिक के लिए जरूरी होता है. ऐसे में इस विद्यालय की तस्वीरें आपको हैरान कर देने के लिए काफी हैं. इसके साथ ही इस विद्यालय में पढ़ने के लिए आने वाले बच्चों को विद्यालय की प्रधान शिक्षिका और उनके पति द्वारा मजदूरों की तरह काम भी कराया जाता है.

इस स्कूल का एक वीडियो भी सामने आया है. यह पूरा मामला जमुई जिला का है, जहां एक विद्यालय के कार्यालय को विद्यालय के प्रधान ने कार्यालय की जगह अपना आशियाना बना लिया है.

आपको बता दें ये पूरा मामला जमुई जिले के खैरा प्रखंड क्षेत्र स्थित हड़खाड़ पंचायत का है. विद्यालय में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत शिक्षिका शीला हेंब्रम ने विद्यालय के कार्यालय को अपना घर बना लिया है.

इस कमरे में ऐशो-आराम की सारी सुविधाएं मौजूद हैं. यहां बिस्तर से लेकर फ्रिज, गोदरेज, टीवी, अलमारी, टेबल और रसोई का सारा सामान मौजूद है. इस कमरे में शिक्षिका शीला हेंब्रम अपने पति के साथ रहती हैं. विद्यालय के जिस कमरे में बच्चों की पढ़ाई होनी थी, उसे शिक्षिका अपने व्यक्तिगत कार्यों के लिए इस्तेमाल कर रही हैं.

आपको बता दें कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय बरदौन में कक्षा 1 से लेकर कक्षा 8 तक की पढ़ाई होती है. लेकिन, विद्यालय में केवल तीन कमरे ही मौजूद हैं. पहले कमरे में कक्षा एक से तीन, दूसरे में कक्षा चार-पांच और तीसरे कमरे में कक्षा छह से लेकर आठ तक की पढ़ाई होती है.

ऐसे में एक महत्वपूर्ण कमरे में जहां बच्चों की पढ़ाई होनी चाहिए थी उसे शिक्षिका द्वारा अपने व्यक्तिगत काम के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. 

इस पूरे मामले पर विद्यालय प्रधान शीला हेंब्रम ने बताया कि उनका घर अभी बन रहा है और उनके पास कोई जगह नहीं थी जिस वजह से उन्होंने स्कूल के कमरे का इस्तेमाल कर लिया. आपको बता दें कि डीएम राकेश कुमार ने भी मामले में जांच की बात कही है.